अलविदा पुराने 500 और 1000 के नोट !

पटना: पुराने 500 और 1000 के नोटों का आज अंतिम दिन है.
आप इसे अपनी स्मृति के रूप में रख सकते हैं, लेकिन गिनती के दस ने अधिक नहीं.
सूत्रों के अनुसार मुद्रशास्त्र पर शोध करने वाले अधिकतम ऐसे नोट गिनती के 25 रख सकते हैं.
जिनके पास अभी भी ऐसे नोट बचे हुए हैं वे अपनी आय का श्रोत बताकर रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया के कुछ चुनिंदे ब्रांच में जमा करा सकते हैं. अंतिम तिथि 31 मार्च है.
एक प्रकार से पुराने 500 और 1000 के नोटों का वजूद आज के बाद समाप्त हो गया. यह अब एक मात्र पीले और लाल रंग के कागज़ का टुकडा है.
इस बीच वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि इस नोटबंदी से डायरेक्ट टेक्स में 14.4 प्रतिशत और इनडायरेक्ट टैक्स में 26.2 प्रतिशत का इजाफा हुआ है.
अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी साल के अंतिम दिन 31 दिसंबर को राष्ट्र को संबोधित करेंगे.
अंदाजा यह लगाया जा रहा है कि आम लोगों और छोटे तथा मंझोले कारोबारियों के लिए वे कुछ नई घोषणा करेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *