झारखण्ड बंद के दौरान दुमका में हिंसा

दुमका: झारखण्ड बंद के दौरान उप-राजधानी दुमका में व्यापक पैमाने पर आगजनी की घटनाएँ हुई वहीं साहेबगंज के बरहेट में पुलिस पर बंद समर्थकों ने हमला किया जिसके एवज में पुलिस को हवा में गोलियां चलानी पडी.

छोटानागपुर और संताल परगना टेनेंसी एक्ट्स में संशोधन के विरोध में संयुक्त विपक्ष का बंद दुमका में उस समय हिंसक हो गया जब कुछ लोगों ने एस पी कॉलेज के पास गाड़ियों में आग लगानी शुरू की.dc-dum

जानकारी के अनुसार बंद समथकों ने सुवह में ही दुमका-पाकुड़ सड़क पर दो हाईवा को जला दिया था, फिर भी जिला प्रशासन ने इसे गंभीरता से नहीं लिया.

दुमका के उपयुक्त राहुल सिन्हा ने कहा कि उनकी बंद समर्थकों के बात हुई थी जिसमें उन्होंने शांतिपूर्ण बंद करने की बात कही थी, किन्तु शाम के समय अचानक वे हिंसक हो गए.

उपयुक्त ने कहा कि इन घटनाओं में जिन लोगों का भी हाथ है उन्हें बक्शा नहीं जायेगा. सबों पर करवाई होगी.

जानकारी के अनुसार शाम के समय जब सबकुछ ठीक हो गया था तो अचानक स्थानीय एस पी कॉलेज के पास एक ख़ास ग्रुप हिंसक हो गए और गाड़ियों में आग लगानी शुरू कर दी.bandh-dumk-voil

एक साथ एक बस सहित आठ ट्रकों में आग लगा दी गई. पुलिस ने हिंसक भीड़ के खिलाफ कुछ नही किया.

दुमका के एस पी कॉलेज के पास कई बार ऐसी घटनाएँ पूर्व में भी हो चुकि हैं. जिला प्रशासन ने उन घटनाओं से कोई सीख नहीं ली.viloance-band

उधर साहेबगंज के बरहेट में बंद समर्थकों ने एक सब-इंस्पेक्टर पर तीर से हमला किया. तीर उनके कान को छू कर गुजर गयी. इसे नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने हवा में गोलियं चलायी. इसमें किसी के मरे जाने की खबर नहीं है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *