यह जो कैफ है, क्या बला है ?

कभी –कभी कोई नाम मन में इस कदर बैठ जाता है कि भुलाये नहीं भूलता.

इंग्लैंड के साथ वह वन-डे मैच जो सौरभ गांगुली के नेतृत्व में लार्ड्स के मैदान में खेला गया था और जिसमे मुहम्मद कैफ़ ने एक शानदार परी खेल कर मैच को जिताया और फिर गांगुली ने अपने शर्ट उतार कर पवेलियन से हवा में लहराए-कोई भारतीय क्रिकेट प्रेमी इसे कैसे भूल सकता है. मुहम्मद कैफ़ का जीत के बाद वह खिला हुआ वह चेहरा एक प्रकार से जेहन में बैठ सा गया है.

अब बात मुद्दे की. एक मुहम्मद कैफ बिहार में भी है. सिवान से उसके तार इस तरह जुड़े हैं कि नेताओं के नींद उसने उड़ा दी है.

यह व्यक्ति कही चर्चा में नहीं था तबतक जबतक कि उसका एक पुराना फोटो लालू यादव के मंत्री पुत्र तेज प्रताप के साथ नहीं देखा गया. यह बात तब उजागर हुआ जब राजद के पूर्व सांसद शहाबुद्दीन भागलपुर जेल से बाहर आये.

पहले कैफ शहाबुद्दीन के साथ दिखा. इसमें कुछ नया नहीं था. कैफ सिवान के एक पत्रकार राजदेव रंजन की हत्या का आरोपी है. वह राजदेव रंजन के साथ भी एक फोटो में दिखा.

उसका फोटो सोशल मीडिया को तब बुखार चढ़ा दिया, जब वह उसका फोटो तेज प्रताप के साथ दिखा. भाजपा के सुशील मोदी ने पटना में धरना दिया और लालू पुत्र को इसमें लपेटने की कोशिश की.

सुशील मोदी का वार हवा में उड़ गया जब सोशल मीडिया में कैफ का फोटो भाजपा के बड़े नेताओं रविशंकर प्रसाद, मुख़्तार नकबी और नन्दकिशोर यादव के साथ देखा गया.

राजदेव रंजन की पत्नी ने सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर कर सुरक्षा की गुहार लगाई. कोर्ट ने बिहार के मंत्री तेज प्रताप, सी बी आई और अन्य को नोटिस जरी कर दिया. राजद समर्थक आवाज उठाने लगे कि कैफ का फोटो तो भाजपा के नेताओं के साथ भी है, तो उन्हें क्यों इस हम्माम में नंगा नहीं किया जा रहा.

यह जो कैफ है, क्या बला है ?

(फेसबुक फोटो )

e.o.m

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *