झारखण्ड सरकार 2 हजार करोड़ रुपये देगी स्वयं सहायता समूहों को

झारखण्ड के मुख्यमंत्री रघुबर दास ने कहा कि उनकी सरकार ने स्वयं सहायता समूह के माध्यम से राज्य में विकास के लिए 2 हजार करोड़ रुपये खर्च करने की योजना बनाई है.

झारखण्ड की उप-राजधानी दुमका में पंचायत प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार अगले दो साल में स्वयं सहायता समूह के माध्यम से दो हजार करोड़ रूपये खर्च करेगी.

फिलहाल संथाल परगना के छह जिलों में कुल 11,223 गाँव और पचास प्रखंड हैं, जिनमें मात्र 17 प्रखंडों में ही स्वयं सहायता समूह काम कर रही है. उन्होंने स्थानीय एनजीओ से आग्रह किया कि वे आगे आकर सरकार के प्लान से जुड़ें ताकि गावों का विकास हो सके.

रघुबर दास ने संथाल परगना के ग्यारह स्वयं सहायता समूहों के काम पर संतोष जाहिर करते हुए उन्हें मुख्यमंत्री फण्ड से एक-एक लाख रूपये देने की घोषणा की.

हिंदी दिवस के अवसर पर अपने भाषण के दौरान उन्हनें लोगों को मातृभाषा को आगे बढ़ने के लिए धन्यबाद दिया.

उन्होंने संथाल परगना में सभी उपायुक्तों से संथाली भाषा में भी सरकारी दस्ताबेजों को प्रकाशित करने का आदेश दिया. उन्होंने कहा कि संथाल परगना में रहने वाले लोगों को अपने बच्चों को संथाली भाषा जरूर सिखानी चाहिए.

संथाल परगना के पाकुड़ जिले के लिट्टीपडा प्रखंड के लिए सरकर ने जो जलापूर्ति योजना शुरू की है उसके दो माह के अन्दर शुरू होने की उम्मीद मुख्यमन्त्री ने जताई.

e.o.m

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *